Pavitra Jyotish
Daily
Panchang
2017
Horoscope
Special
Deals
Maha
Shivratri

धनु सम्पूर्ण अवलोकन

Dhanu Rashi Bhavishya

भौतिक लक्षण : सुंदर, सुविकसित आकृति, बदामी आंखे, भूरे बाल, धनी और ऊॅची भौंहें, लंबा चेहरा लंबी नाक, सुन्दर आकृति, चाल, सीधी नहीं होती है। मोटे, होंठ, नाक, कान और दांत।

अन्य गुण : स्वतंत्र, दयालु, ईमानदार, भरोसेमंद, ईश्वर भक्त। चैकन्ने, अतीन्द्रिय ज्ञानयुक्त, बात की तह तक शीघ्र पहुंच जाते हैं। आंखे कमजोर हो सकती हैं, कुबड़ापन संभव है। न्यायप्रिय, स्पष्टववादी, परंपरावादी, व्यावासायिक दृष्टिकोण।

कभी-कभी बेचैन और चिंतित हो जाते हैं। दोहरी मानसिकता, हरफनमौला, प्रत्येक विषय सीखने को इच्छुक, प्रसन्नचित रहेते हैं। कानून का पालन करने वाले, अदालतों से दूर रहते हैं। सादे जीवन से प्रसन्न, समय के अनुसार अपने को ढाल लेते हैं। कला और काव्य के प्रेमी, सृजानात्मक प्रतिभा के धनी । कानून का पालन करते है, अदालत क पचड़ों से दूर रहते है। पराविद्या और दर्शनशास्त्र में रूचि होती है।

खानपान और सेक्स में संयम बरतते हैं। कार्य में सफाई, सुव्यवस्था, क्रमबद्धता, अनुशासन और परिश्रम द्वारा सफलता प्राप्त करते हैं। आत्मविश्वास उत्तम होता है। हाथ के कार्य को अधूरा नहीं छोड़ते हैं। सरकार से सहयोग मिलता है, विरासत में जायदाद प्राप्त करते हैं।

संभाव्य रोग : साइटिका, गठिया का दर्द, कूल्हे की हड्डी टूटना, गाउट, फेफड़ों की व्याधि आदि। अध्यापक, वक्ता, धर्मगुरू, न्यायाधीश, वकील आदि कार्यों में सफल होते हैं। 18 से 37 वर्ष की आयु के मध्य आर्थिक स्थिति उत्तम होती है। 38 से 47 वर्ष में घरेलू कष्ट रहता है। 61 से 69 वर्ष के दौरान संपन्नता रहती है।

अशुभ वर्ष : 2, 10, 18, 31, 38 एवं 42

वह स्थान जहां हाथी या रथ मोटर कार रखें जाते हैं राजा का निवास, पाप राशि, पुरूष राशि दिनबली, पृष्ठोदय, लम्बे चेहरा और गर्दन, कान तथा नाक बड़े, अत्याधिक उदार, अच्छे दिल वाला, भौतिक संस्कृति को पसंद करने वाला, यात्रा-पसंद, ऊॅची आवाज आदि लक्षण के होते हैं।