कुम्भ राशि मासिक राशिफल

कुम्भ राशि मासिक राशिफल

कुम्भ मासिक राशिफल दिसम्बर 2018

माह दिसम्बर 2018 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:

कैरियर और व्यापारः दिसम्बर माह में कुम्भ राशि के जातक व जातिकाओं को वांछित इकाइयों व समूहों के मध्य सेवाएं देने के अच्छे अवसर रहेंगे। कैरियर के मामलों को इस माह के द्वितीय व चतुर्थ भाग में नई उंचाई देने में कामयाबी रहेगी। आपको किसी नामी संस्था के मध्य सेवाएं देने हेतु नामित किए जाने के योग रहेंगे। व्यापारिक जीवन को प्रगति प्राप्त रहेगी। शेष भाग में आपको उतार-चढ़ाव देखना पड़ सकता है।

प्रेम एवं सम्बंधः दिसम्बर माह कुम्भ राशि के जातक व जातिकाओं को स्वजनों के मध्य मधुरता स्थापित करने तथा पारिवारिक मामलों की एकता को बनाएं रखने हेतु शुरूआती दौर से ही इच्छित परिणाम रहेंगे। निजी संबंधों में प्रगाढ़ता की स्थिति रहेगी। वैसे इस माह का तृतीय भाग भी आपके लिए अनुकूल रहेगा। इस मास के शेष भाग में छोटी-छोटी रूकावटों से इंकार नहीं किया जा सकता है। कटु शब्दों के प्रयोग से बचें।

वित्तीय स्थितिः दिसम्बर मास मे कुम्भ राशि के जातक एवं जातिकाओं को वित्तीय मामलों में कदम-कदम पर कामयाबी के योग रहेंगे। संबंधित आय के स्रोतों से लाभप्रदता बढ़ाने की दिशा में प्रयास तीव्र रहेंगे। इस मास के पहले व दूसरे भाग में आप अधिक अच्छे परिणाम प्राप्त करने में सफल रहेंगे। इस माह के तृतीय व चतुर्थ भाग में आपको वित्तीय मामलों में वांछित परिणामों हेतु कशमकश करनी पड़ सकती है।

शिक्षा एवं ज्ञानः कुम्भ राशि के जातक एवं जातिकाओं को माह दिसम्बर में शैक्षिक स्तर को बेहतर बनाने की दिशा में कामयाबी रहेगी। चाहे वह प्रतियोगी व क्रीड़ा के क्षेत्र हो या वार्षिक व अर्द्ध वार्षिक पाठ्य क्रम हो आपको बेहतर सफलता रहेगी। किन्तु सधे हुए प्रयासों को कमतर न होने दें। इस माह के प्रथम व द्वितीय भाग अधिक अनुकूल तृतीय व चतुर्थ भाग में प्रतिकूलताएं उभर सकती हैं।

स्वास्थ्यः स्वास्थ के मामलों में दिसम्बर माह में कुम्भ राशि के जातक व जातिकाओं को सेहत को बेहतर बनाने में कामयाबी रहेगी। आपकी सधी हुई दिनचर्या का बेहतर असर रहेगा। इस माह के प्रथम व तृतीय भाग में आप सेहत को अधिक सबल रखने में कामयाब रहेंगे। किन्तु द्वितीय व अंतिम भाग में अपेक्षाकृत सुस्ती उभरने के आसार रहेंगे। उचित खान-पान का क्रम अपेक्षित रहेगा।

उपयोगी उपायः मकर राशि के जातकों का निम्नांकित उपाय करने चाहिए, जो निश्चित ही फलदायक रहेगेः

  1. ऊॅं ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः मंत्र का जाप करें।
  2. निः शुल्क व शुद्ध जल की आबाध व्यावस्था मंदिर व मार्ग में करे।
  3. फलदार व छायादार वृक्षों संचित व रोपित करें।
  4. अनाथ बच्चों के निमित्त भोजन व जरूरी वस्तुओं का दान करें।