हिन्दी

मिथुन राशि मासिक राशिफल (Mithun Rashi Masik Rashifal)

मिथुन राशि मासिक राशिफल (Mithun Rashi Masik Rashifal)

मिथुन मासिक राशिफल मई 2021

माह मई 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:

सूर्य इस मास 14 मई से व्यय भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत लग्न भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 01 मई से व्यय भावगत तथा 26 मई से लग्न भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् भाग्य भाव गत गोचर करेंगे। श्री शुक्र 04 मई से व्यय भावगत तथा 28 मई से लग्न भावगत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत अष्टम भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर पूर्ववत व्यय भाव में एवं केतु का गोचर पूर्ववत रोग भाव में रहेगा।

कैरियर एवं व्यवसायः मई 2021 में मिथुन राशि के जातक एवं जातिकाओं को इस माह के पहले दो सप्ताहों तक संबंधित राजनैतिक व सामाजिक जीवन में बेहतर परिणामों की स्थिति बनी हुई रहेगी। ऐसे में कई कामों को तय समय से पूरा करने में सक्षम होते रहेंगे। बहुत सम्भव है, कि आपके नाम को किसी पद हेतु प्रस्तावित किया जा सकता है। यदि आप प्रशासनिक अधिकारी व कर्मचारी हैं, तो मान सम्मान बना हुआ रहेगा। किन्तु माह के तीसरे सप्ताह से पुनः संबंधित कार्य व प्रबंधन को साधने के लिये सिलसिले में यात्रा व प्रवास के लिये रवाना होना पडे़गा। क्योंकि इस माह के दो सप्ताहों तक श्री सूर्य का गोचर किसी प्रतिभाशाली व्यक्ति से मिलने के अवसरों को देने वाला रहेगा। यदि आप रोजगार की तलाश में हैं, तो यह माह अनुकूल परिणामों के साथ खड़ा हुआ रहेगा।

प्रेम एवं संबंधः इस मई 2021 में घर परिवार को चमकाने व संबंधित क्षेत्रों में बढ़त बनाने के अनुकूल अवसर बने हुये रहेंगे। घर मे किसी बात में सहमति बनी हुई रहेगी। जिससे पिछले महीनों से रूके हुये कुछ कामों को पूरा करने मे सक्षम होते रहेंगे। वहीं बड़े भाई व बहनों के मध्य भी समांजस्य की स्थिति रहेगी। ऐसे में मन की प्रसन्नता कायम रहेगी। किन्तु प्रयासों को पूरी मुस्तैदी के साथ करने की जरूरत रहेगी। हालांकि माह के तीसरे सप्ताह से स्वजनों से मिलने के लिये यात्रादि में जाना पड़ेगा। वहीं पे्रम संबंधों में साथी के साथ परस्पर विश्वास मजबूत रहेगा। किन्तु श्री सूर्य का गोचर उत्तेजित करने वाला तथा संबंधों में चाहत की कमी ला सकता है। वहीं शुक्र का गोचर पे्रम संबंधों को मधुर करने में आंशिक रूप से शुभ फल प्रदाता बना हुआ रहेगा।

वित्तीय स्थितिः मई 2021 में मिथुन राशि के जातक एवं जातिकाओं को संबंधित कार्य व व्यापार के क्षेत्रों को शानदार बनाने तथा अधिक से अधिक ग्राहकों को लुभाने की इच्छा बनी हुई रहेगी। इस बाबत अपने कार्य स्थल को सुविधाओं से लैस करने और उन्हें आधुनिक बनाने में लगे हुये रहेंगे। परिणामतः श्री सूर्य का गोचर इस माह के दो सप्ताहों से वांछित धन लाभ को देने वाला  रहेगा। किन्तु इस माह के तीसरे सप्ताह से श्री सूर्य पूंजी निवेश व शुक्र अन्य मदों में अधिक धन व्यय को देने वाले रहेंगे। कहने का अर्थ है कि इस माह संबंधित आय के स्रोतों से उच्च किस्म के लाभ प्राप्त होने की स्थिति निर्मित हो रही है। कुल मिलाकर यह माह के ग्रहीय गोचर अच्छे लाभ की तरफ संकेत रहे है। किन्तु सूर्य का गोचर इस माह के तीसरे सप्ताह से व्यय को बढ़ाने तथा संसाधनों को जुटाने में व्यय देता रहेगा।

शिक्षा एवं ज्ञानः मई 2021 में इस राशि के जातक एवं जातिकायें प्रबंधन, कला, फिल्म, अनुसंधान, चिकित्सा, कला आदि के क्षेत्रों में अच्छी बढ़त के अवसरों से युक्त रहेंगे। यदि आप किसी क्षेत्र में अनुसंधान कर रहे हैं, तो इस माह की ग्रहीय स्थिति आपको सफल होने के अच्छे सोपानों को निर्मित करने वाली रहेगी। कहने का अभिप्राय है। कि इस माह का गोचर कहीं न कहीं अध्ययन व अध्यापन के क्षेत्रों में अच्छी बढ़त को देने वाला रहेगा। यदि आप किसी प्रतियोगी क्षेत्र में अपनी किस्मत को आजमा रहे है। तो भी इस माह का गोचर कहीं न कहीं आपको वांछित परिणामों की तरफ ले जाने वाला रहेगा। अतः प्रयासों को पूरी मुस्तैदी से करें, तो अच्छा रहेगा। वहीं विद्या भाव के स्वामी श्री शुक्र संबंधित अध्ययन व प्रशिक्षण के क्षेत्रों में दूरस्थ स्थानों की यात्रा व प्रवास देता रहेगा। हालांकि गुरू का दृष्टि संबंध और श्री सूर्य का उच्चगत गोचर इस माह निश्चित ही सफलता को देने वाला रहेगा। अतः लक्ष्य की तरफ बढ़े।

स्वास्थ्यः मई 2021 मे मिथुन राशि वाले को इस माह राशि स्वामी बुध की गोचरीय स्थिति के कारण संबंधित सेहत के मामलों में मिश्रित परिणामों की स्थिति रहेगी। ऐसे में शरीर में रोग व पीड़ाओं के उत्पन्न होने के आसार बने हुये रहेंगे। अतः तामसिक आहारों के सेवन से बचें, साथ ही में नियमित दिनचर्या के क्रम को कमजोर न करें। तथा जरूरी होने पर चिकित्सीय उपचार भी लें, हालांकि मई के अंतिम दिनों में पुनः सेहत अच्छी रहेगी। क्योंकि स्वराशि गत राशि स्वामी बुध का गोचर रहेगा। हालांकि गुरू का गोचर सेहत के मामलों में आपके लिये अनुकूल बना हुआ रहेगा। जो ग्रहीय गोचर से उत्पन्न अरिष्ट को दूर करने मे सहायक रहेगा। जिससे शरीर में उत्पन्न रोग व पीड़ाओं को दूर करने मे सक्षम होते रहेंगे। कहने का अभिप्राय है। कि इस माह ग्रहीय गोचर कहीं न कहीं कुछ रोग व पीड़ाओं को देने वाला रहेगा।

उपयोगी उपायः ऊॅ भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहुये नमः मंत्र का जाप करें। या करवायें।