हिन्दी

मिथुन राशि मासिक राशिफल (Mithun Rashi Masik Rashifal)

मिथुन राशि मासिक राशिफल (Mithun Rashi Masik Rashifal)

मिथुन मासिक राशिफल अगस्त 2021

माह अगस्त 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:

सूर्य इस मास 16 अगस्त से पराक्रम भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत् पराक्रम भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 08 अगस्त से पराक्रम भावगत तथा 26 अगस्त से सुख भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् भाग्य भावगत गोचर करेंगे। तथा शुक्र 11 अगस्त से सुख भावगत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत अष्टम भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर पूर्ववत व्यय भाव में एवं केतू का गोचर पूर्ववत रोग भाव में गोचर करेंगे।

कैरियर एवं व्यवसायः अगस्त 2021 में मिथुन राशि के जातक एवं जातिकायें उज्जवल भविष्य की राह को निर्मित करने में दिलचस्प बने हुये रहेंगे। चाहे व उद्योग धंधों को सफल बनाने व सुरक्षा तथा निर्माण के कार्य व व्यापार हो। यह गोचर अनुकूल बना हुआ रहेगा। यदि आप निजी व सरकारी क्षेत्रों में सेवाओं को देने के उत्सुक है। तो इस माह का गोचर हालांकि पहले दो सप्ताहों तक कठिन बना हुआ रहेगा। किन्तु बाद में 17 अगस्त से आपके यश व कीर्ति को बढ़ाने वाला रहेगा। यदि आप कार्यरत है। तो मान-सम्मान व अधिकारों को बढ़ाने की बातें जोर पकड़ती हुई रहेगी। या फिर नये सिरे से रोजगार की तलाश में हैं, तो यह गोचर अधिक कामयाब रहेगा। यानी दिये हुये आवेदन स्वीकार किये जायेगे। तथा नियुक्ति पत्र मिलने के आसार रहेंगे। यदि आप व्यवसायी है। तो इस माह का गोचर उत्पादन व विक्रय में वांछित लाभांश को बढ़ाने वाला रहेगा। क्योंकि श्री सूर्य व भौग का गोचर अनुकूलता देने वाला रहेगा। वहीं गुरू भी सुख व सौभाग्य बढ़ाने में सक्षम रहेंगे।

प्रेम एवं संबंधः अगस्त 2021 में मिथुन राशि के जातक व जातिकायें घर व परिवार में संस्कारो की अलख जगाने व मानवीय संवेदानाओं से जुड़ने में जोर देगे। परिणामतः ग्रहीय गोचर के कारण उत्पन्न झगड़े आदि जो कि संबंधों में आक्रोश को पैदा करने वाले हैं उन्हें दूर करने में इस माह लगातार प्रगति रहेगी। किन्तु स्वजनों के मध्य इस माह परस्पर हितों के टकराव होने से श्री सूर्य का गोचर तीखी नोंक-झांंक को देने वाला रहेगा। किन्तु अपने स्तर पर सावधानी बनाकर चलने से फायदा रहेगा। क्योंकि इस माह के पहले दो सप्ताहों तक बौद्धिक आधार के सहारें सही समय सही निर्णय करने में सक्षम रहेगे। तो इस माह के तीसरे सप्ताह से श्री सूर्य व भौम का गोचर पुनः घर व परिवार में तथा प्रेम संबंधों में चाहत को विकसित करने वाला रहेगा। जिससे संबंधों में मधुरता की बयार रहेगी। यानी आपके संबंधों में चाहत है तो और घनिष्ठ रहेंगी। किन्तु निजी संबंधों में तकरार है। तो वह सामान्य स्तर के रहेंगे। यानी ग्रहीय गोचर सकारात्मक होकर अगले पायदान पर बढ़ाने वाला रहेगा।

वित्तीय स्थितिः अगस्त 2021 में मिथुन राशि के जातक एवं जातिकायें अचल सम्पत्ति के निर्माण व उसके संरक्षण को लेकर कुछ चुस्त बने हुये रहेंगे। जिससे अनापेक्षित अतिक्रमण को हटाने में सक्षम रहेंगे। वहीं संबंधित आय के स्रोतों को ताकतदार बनाने व मशीनों के सही प्रयोग से धन को संग्रहित करने में प्रगति बनी हुई रहेगी। वैसे इन प्रयासों में आपको दूरस्थ क्षेत्रों की यात्रा व कुछ समय तक प्रवास करने की जरूरत बनी हुई रहेगी। वहीं श्री सूर्य का गोचर कार्य व व्यापार में चल रही खींचा-तान को दूसरे सप्ताह से लाभप्रद बनाने वाला रहेगा। जिससे आर्थिक मोर्चे पर वांछित लाभ के आसार रहेंगे। यानी इस माह लाभांश तो रहेगा। किन्तु कुछ व्यय की स्थिति भी रहेगी। कुल मिलाकर यह गोचर सभी व्ययों को घटाने के बाद भी आपके लिए फायदेमंद रहेगा। वहीं गुरू का गोचर धन लाभ को उन्नत करने वाला रहेगा।  यानी इस माह का गोचर मुनाफे वाला रहेगा।

शिक्षा एवं ज्ञानः अगस्त 2021 में इस राशि के जातक एवं जातिकायें शैक्षिक पहलुओं को सुधारने व कामों को आगे बढ़ाने के क्रम में सफल होते रहेंगे। किन्तु माह के पहले दो सप्ताहों तक संबंधित उच्च शिक्षा व विश्वविद्यालय स्तर की शिक्षा हेतु भाग दौड़ करना पड़ेगा। यदि आप खेल व हुनर को निखारने की शिक्षा से जुडे़ हैं, तो कहीं लंबी व लाभकारी यात्रा में जाने के योग बने हुये रहेंगे। वहीं माह के तीसरे सप्ताह से संबंधित प्रतियोगी क्षेत्रों व क्रीड़ा के क्षेत्रों में आपके दमदार प्रदर्शन की हर कोई सराहना करता हुआ रहेगा। यानी आपको उम्दा किस्म के प्रदर्शन में कोई कमी नहीं छोड़ना चाहिये। चाहे वह तकनीक की शिक्षा हो या फिर पाठ्यक्रमों में शामिल शिक्षा हो निश्चित तौर पर बढ़ने की जरूरत रहेगी। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर व राशि स्वामी बुध का गोचर ख्यातिप्रद तो रहेगा। किन्तु गोचरीय क्रम में शिक्षा के मामलों में उतार-चढ़ाव इस माह बने रहने के आसार रहेंगे।

स्वास्थ्यः अगस्त 2021 मे मिथुन राशि वाले अपने सेहत की वास्तविक क्षमता को जानने व पहचानने में लगे हुये रहेंगे। परिणामतः कमजोर हो रहे पहलुओं को सुधारने की तरफ ध्यान रहेंगा। क्योंकि राशि स्वामी श्री बुध का गोचर शरीरिक क्षमताओं को कमजोर करने वाला तथा रोग पीड़ा व भय उत्पन्न कर सकता है। अतः इस माह आपको अपने स्तर पर यह जांचने की जरूरत रहेगी कि जरूरत के अनुसार विटामिन्स व पौषाहारों को लिया गया है या नहीं, साथ ही घर व परिवार के साथ संबंधों में बढ़ते उतार-चढ़ाव व कार्य के क्षेत्रों में दबाव को क्रोध व चिंता में परिवरिर्तित न करें। अवसाद से दूर रहें। तथा किसी काम के सुस्त होने या फिर रूकने पर किसी पर फट न पड़े तो अच्छा रहेगा। यानी इस माह का गोचर सेहत के लिहाज से यद्यपि मिश्रित परिणामों को देने वाला रहेगा। यद्यपि मंगल का गोचर स्वास्थ्य को उर्जाविन्त करने वाला रहेगा। जिससे ताकत बनी हुई रहेगी।

उपयोगी उपायः ऊॅ भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहुये नमः मंत्र का जाप करें। या करवायें।