हिन्दी

मिथुन राशि मासिक राशिफल (Mithun Rashi Masik Rashifal)

मिथुन राशि मासिक राशिफल (Mithun Rashi Masik Rashifal)

मिथुन मासिक राशिफल जुलाई 2020

माह जुलाई 2020 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:

सूर्य इस मास धन भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल 18 जून से कर्म भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 18 जून से वक्री होकर लग्न भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति 30 जून से वक्री होकर दारा भाव गत गोचर करेंगे। श्री शुक्र 25 जून से मार्गी होकर व्यय भाव गत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि अष्टम भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर लग्न भाव में एवं केतु का गोचर दारा भाव में रहेगा।

कैरियर एवं व्यवसायः जुलाई 2020 में मिथुन राशि के जातक एवं जातिकायें तकनीक चिकित्सा, तथा सुरक्षा एवं फिल्म एवं संगीत के क्षेत्रों में अच्छी बढ़त के अवसरों से युक्त होगे। क्योंकि कर्म एवं कैरियर भाव से मंगल का संबंध आपके लिये इस माह फायदेमंद रहेगा। जिससे संबंधित क्षेत्रों में आप और ऊर्जावान होकर कामों को करने में लगे हुये रहेगे। कुल मिलाकर आपको इस माह संबंधित व्यवसाय में लाभ होगा।

प्रेम एवं संबंधः मिथुन राशि वालों को जुलाई 2020 में अपने घर एवं परिवार के साथ ही निजी संबंधों को साधने में कुछ अचानक ही परेशानियों से गुजरना पड़ सकता हे। क्योंकि संबंधित भाव के स्वामी पीड़ित होकर स्वग्रही बने हुये होगे। ऐसे में आपको अपने प्रयासों को और बढ़ाने की जरूरत रहेगी। कहने का अभिप्राय है। कि परस्पर संबंधों की मधुरता को बनाये रखने के लिये आपको और मुस्तैद होने की जयरूर रहेगी।

वित्तीय स्थितिः जुलाई 2020 में मिथुन राशि के जातक एवं जातिकायें अपने धन लाभ को बढ़ाने तथा संबंधित कारोबारी एवं कार्मिक जीवन से अर्थ लाभ हासिल करने के लिये और प्रयासों को साधने की जरूरत रहेगी। अतः अपने कामों को और गति देने तथा संबंधित क्षेत्रों से धन अर्जित करने की आपकी मंशा पूर्ण रहेगी। किन्तु सधे हुये प्रयासों को कम न करें अन्यथा हानि की स्थिति हो सकती है।

शिक्षा एवं ज्ञानः जुलाई 2020 में इस राशि के जातक एवं जातिाकओं को अध्ययन एवं अध्यापन के क्षेत्रों में स्थान पाने एवं नाम कमाने के लिये खूब मेहनत की जरूरत रहेगी। अतः अपने ज्ञान एवं विज्ञान तथा कला कौशल को धार देने के लिये आपको पूरी ताकत झोकनी पड़ सकती है। हालांकि पाप ग्रह संबंध होने से आपको परेशानी रहेगी।

स्वास्थ्यः जुलाई 2020 के महीने मे इस मिथुन राशि वालों को स्वास्थ्य के मामलों में मिश्रित परणामों की स्थिति बनी हुई होगी। क्योंकि लग्नगत शुभ एवं पापग्रही स्थिति बनी हुई रहेगी। जिससे आप कभी अपने शरीर में अचानक ही पीड़ाओं की स्थिति को महशूस कर सकते है। जिससे आपको कारगर उपचार लेना रहेगा।

उपयोगी उपायः ऊॅ भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहुये नमः मंत्र का जाप करें। या करवायें।