हिन्दी

वृषभ राशि मासिक राशिफल (Vrishabh Rashi Masik Rashifal)

वृषभ राशि मासिक राशिफल (Vrishabh Rashi Masik Rashifal)

वृषभ मासिक राशिफल अप्रैल 2021

माह अप्रैल 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:

सूर्य इस मास 13 अप्रैल से व्यय भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल 13 अप्रैल से धन भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 01 अप्रैल से आय भाव गत तथा 16 अप्रैल से व्यय भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति 06 अप्रैल से कर्म भावगत गोचर करेंगे। श्री शुक्र 10 अप्रैल से व्यय भाव गत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत भाग्य भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर पूर्ववत लग्न भावगत एवं केतू का गोचर पूर्ववत दारा भाव में रहेगा।

कैरियर एवं व्यवसायः सन् 2021 अप्रैल माह में वृष राशि के जातक एवं जातिकाओं को कार्य व व्यापार को शानदार बनाने तथा संबंधित क्षेत्रों मे उम्दा किस्म के अवसर रहेंगे। क्योंकि कार्य भाव में गुरू का गोचर संबंधित कार्य व व्यापार के लक्ष्यों को अर्जित करने की क्षमताओं को देने वाला रहेगा। किन्तु परियोजनाओं को तय समय से पूरा करने हेतु दूरस्थ स्थानों में भाग-दौड़ या फिर सम्पर्क को बढ़ाने की जरूरत बनी हुई रहेगी। यदि आप निजी व सरकारी क्षेत्रों में सेवाओं के माध्यम से आजीविका प्राप्त करने के प्रयास में, तो इस माह अच्छी स्थिति रहेगी। किन्तु अप्रैल के दूसरे सप्ताह से राशि स्वामी श्री शुक्र का गोचर कैरियर व व्यापार के सिलसिले में दौड़ाने वाला रहेगा। यदि आप अनुबंध प्राप्त करने के प्रयास में हैं, तो इस माह अधिकारियों से सहमति रहेगी।

प्रेम एवं संबंधः माह अप्रैल 2021 में वृष राशि के जातक एवं जातिकायें घर व परिवार में सुखद माहौल बनाने तथा स्वजनों के मध्य सार्थक वार्ताओं को जारी रखने में लगे हुये रहेंगे। बहुत सम्भव है कि इस माह किसी मांगलिक कामों को पूरा में लगे हुये रहेंगे। माता-पिता की बातें व सीख इस माह अच्छी लगती हुई रहेगी। किन्तु कुछ निजी बातों को उनसे कहने से बचते हुये रहेंगे। पे्रम संबंधों में इस माह के दूसरे सप्ताह से कुछ विपरीत परिणाम हो सकते है। या फिर साथी को लेकर भाग-दौड़ की स्थिति बनी हुई रहेगी। कहने का अभिप्राय है। कि घर परिवार में सामान्य स्तर के परिणाम रहेंगे। किन्तु परिजनों के सेहत को लेकर भी इस माह परेशान होना पड़ सकता है। यानी परिवार को भरोसे में लेकर कोई बड़ा निर्णय इस माह करने को तैयार रहेंगे। अतः प्रयासों को कमजोर न करें।

वित्तीय स्थितिः अप्रैल 2021 में वृष राशि के जातक एवं जातिकाओं को आर्थिक पहलुओं को साधनें के अवसर बने हुये रहेंगे। ऐसे में संबंधित इकाइयों से लाभ अर्जित करने हेतु उच्च किस्म के उन्नत उपकरणों को लगाने और तय समय में कामों को गुणवत्ता पूर्वक करने में लगे हुये रहेंगे। परिणामतः इस माह व्यापक लाभ की स्थिति बनी हुई रहेगी। यदि आप कारोबारी या फिर विक्रय से संबंधित है तो संस्थाओं से सकारात्मक संवाद कर अच्छे लाभ की तरफ इस माह बढ़ते हुये रहेंगे। किन्तु राशि स्वामी श्री शुक्र का गोचर कामों को साधने के लिये दौड़ाने वाला रहेगा। जिससे में आप कामयाब होते रहेंगे। वहीं श्री सूर्य का गोचर इस माह 13 अप्रैल से आपके आर्थिक व्यय को बढ़ाने वाला रहेगा। किन्तु किसी सक्षम अधिकारी के साथ अनुबंधों के नवीनी करण को लेकर सकारात्मक वार्ता प्रसन्न करने वाली रहेगी।

शिक्षा एवं ज्ञानः अप्रैल 2021 में वृष राशि के जातक एवं जातिकायें इस माह पढ़ने लिखने और संबंधित कार्य व व्यापार में उम्दा किस्म के ज्ञान को अर्जित करने में दिलचस्प बने हुये रहेंगे। यदि फिल्म, शोध, कानून, प्रबंधन, के क्षेत्रों में ज्ञान को शानदार बनाने के लिये सोच रहें है। तो राशि स्वामी श्री शुक्र का गोचर आपके लिये अच्छा रहेगा। वहीं गुरू का गोचर भी इस माह के पहले सप्ताह तक आपके ज्ञान को संवारते रहेंगे। ऐसे में किसी प्रतियोगी परीक्षा या फिर कार्य व व्यापार मे क्षेत्रों में लिये गये बड़े निर्णयों की तारीफ होती रहेगी। किन्तु इस माह के दूसरे सप्ताह से ग्रहीय गोचर संबंधित शिक्षण व प्रशिक्षण के क्षेत्रों में विपरीत परिणामों को देने वाला हो सकता है। ऐसे में आप सफलता के पिछले पायदान पर खिसक सकते है। अतः सूझबूझ के क्रम को कमजोर न करें, तो अच्छा रहेगा।

स्वास्थ्यः अप्रैल 2021 में वृष राशि के जातक एवं जातिकाओं को तन की तंदुरूस्ती को कायम रखने के लिये नियमित आहार-विहार का ध्यान देने की जरूरत बनी हुई रहेगी। वैसे इस माह 10 अप्रैल तक अच्छे सेहत के स्वामी बने हुये रहेंगे। यदि कोई रोग व पीड़ा हैं, तो उसके समाप्त होने के पूरे आसार रहेंगे। क्योंकि राशि स्वामी इस दौरान उच्च होकर आपके तन को संवारने वाले रहेंगे। जिससे सेहत में एक नये जुनून व हौसले युक्त रहेंगे। किन्तु आजीविका के संदर्भों में या जुड़े हुये क्रिया कलापों को पूरा करने के लिये लगातार परिश्रम की जरूरत रहेगी। ऐसे में नकारात्मक ग्रहीय प्रभाव सेहत में कमजोरी व थकान की स्थिति को देता हुआ रहेगा। अतः काम के साथ आराम व खान-पान का संतुलन बनाकर रखें, तो अच्छा रहेगा। अन्यथा हानि से परेशानी की स्थिति रहेगी।

उपयोगी उपायः सूर्य मंत्रः ऊॅ ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः का जाप करें।