हिन्दी

2019 कन्या राशि की ग्रह स्थितियां

2019 कन्या राशि की ग्रह स्थितियां

2019 मे कन्या राशि के लिए ग्रहों का गोचर

2019 में कन्या राशि के लिए ग्रह स्थितियां इस प्रकार रहेंगी

कन्या राशिः

सूर्यः इस वर्ष सूर्य 14 जनवरी से पंचम भाव में, 13 फरवरी को षष्ठ भाव में, 14 मार्च को सप्तम भाव में, 14 अप्रैल को अष्टम भाव में, 15 मई धर्म भाव, 15 जून को कर्म भाव में, 16 जुलाई को आय भाव में, 17 अगस्त को व्यय भाव में, 17 सितम्बर को प्रथम भाव में, 17 अक्टूबर को द्वितीय भाव में, 16 नवम्बर को तृतीय भाव में, 16 दिसम्बर को चतुर्थ भाव में संचरण करेगा।

चंद्रः चंद्र की गोचरीय तीव्रता होने के कारण सवा दो नक्षत्रों अर्थात् एक राशि का गोचरीय क्रम लगभग ढ़ाई दिनों में पूर्ण हो जाता है। अतएव चंद्रमा इसी तीव्रता क्रम से राशि चक्र में वर्ष पर्यन्त मेष से मीन पर्यन्त गोचर करेगा।

मंगलः मंगल इस वर्ष 05 फरवरी को अष्टम भाव में, 22 मार्च को धर्म भाव में, 07 मई को कर्म भाव में, 22 जून को आय भाव में, 08 अगस्त को व्यय भाव में, 25 सितम्बर को प्रथम भाव में, 10 नवम्बर को द्वितीय भाव में, 25 दिसम्बर को तृतीय भाव में संचरण करेंगे।

अपनी व्यक्तिगत समस्या के निश्चित समाधान हेतु समय निर्धारित कर ज्योतिषी पंडित उमेश चंद्र पन्त से संपर्क करे | हम आपको निश्चित समाधान का आश्वासन देते है |

बुधः 01 जनवरी को चतुर्थ भाव में, 20 जनवरी को पंचम भाव में, 07 फरवरी को षष्ठ भाव में, 25 फरवरी को दारा भाव, 03 मई को अष्टम भाव में, 18 मई को धर्म भाव में, 01 जून को कर्म भाव में, 20 जून को आय भाव में, 26 अगस्त को व्यय भाव में, 10 सितम्बर को प्रथम भाव में 29 सितम्बर को द्वितीय भाव में, 23 अक्टूबर को तृतीय भाव 25 दिसम्बर को चतुर्थ भाव में संचरण करेंगे।

गुरूः इस वर्ष गुरू तृतीय भाव में गोचर करते हुए 29 मार्च को चतुर्थ भाव 22 अप्रैल को तृतीय भाव में 04 नवम्बर को चतुर्थ भाव में संचरण करेंगे।

शुक्रः शुक्र 01 जनवरी को तृतीय भाव में, 29 जनवरी चतुर्थ भाव में, 24 फरवरी को पंचम भाव में 21 मार्च को षष्ठ भाव में, 15 अप्रैल को दारा भाव में, 10 मई को अष्टम भाव में, 04 जून को धर्म भाव में, 28 जून को कर्म भाव में, 23 जुलाई को आय भाव में, 16 अगस्त व्यय भाव में, 09 सितम्बर को प्रथम भाव में, 03 अक्टूबर को द्वितीय भाव में, 28 अक्टूबर को तृतीय भाव में 21 नवम्बर को चतुर्थ भाव में 15 दिसम्बर को पंचम भाव में संचरण करेंगे।

शनिः शनि वर्ष पर्यन्त चतुर्थ भाव में गोचर करेंगे।

राहुः राहु इस वर्ष 06 मार्च तक आय भाव इसके पश्चात् कर्म भाव में संचरण करेगा।

केतुः केतु इस वर्ष 06 मार्च तक पंचम भाव में इसके पश्चात् चतुर्थ भाव में संचरण करेगा।

अपनी व्यक्तिगत समस्या के निश्चित समाधान हेतु समय निर्धारित कर ज्योतिषी पंडित उमेश चंद्र पन्त से संपर्क करे | हम आपको निश्चित समाधान का आश्वासन देते है |

Click below for Virgo Yearly horoscope 2020:

2020 कन्या राशि की ग्रह स्थितियां

इस वर्ष 2020 में सूर्य 14 जनवरी …

2020 कन्या राशि कैरियर एवं व्यापार राशिफल

2020 के इन महीनों में …

2020 कन्या राशि वित्तीय राशिफल

2020 यह महीने कन्या राशि …

2020 कन्या राशि प्रेम एवं संबंध

नववर्ष सन् 2020 के यह …

2020 कन्या राशि स्वास्थ्य राशिफल

2020 के यह महीने कन्या …

2020 कन्या राशि शिक्षा राशिफल

2020 के यह माह पढ़ने लिखने …

2020 कन्या राशि उपयोगी उपाय

वर्ष 2020 के इन महीनों में …