हिन्दी

कन्या राशि मासिक राशिफल (Kanya Rashi Masik Rashifal)

कन्या राशि मासिक राशिफल (Kanya Rashi Masik Rashifal)

कन्या मासिक राशिफल जून 2021

माह जून 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:

सूर्य इस मास 15 जून से कर्म भावगत में गोचर करेंगे। श्री मंगल 02 जून से आय भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 03 जून से वक्री भाग्य भाव गत तथा 23 जून से मार्गी भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् रोग भाव गत गोचर करेंगे। तथा( श्री वृहस्पति 20 जून से वक्री गोचर करेंगे) श्री शुक्र 22 जून से आय भावगत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत पंचम भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर पूर्ववत भाग्य भाव में एवं केतु का गोचर पराक्रम भाव में रहेगा।

कैरियर एवं व्यवसायः जून 2021 कन्या राशि के जातक एवं जातिकाओं को कार्य व व्यवसाय को साधने तथा उसके आधार भूत ढ़ाचे को मजबूत बनाने के लिए निरन्तर प्रयासों की जरूरत रहेगी। क्योंकि राशि स्वामी बुध का गोचर पाप ग्रह के साथ रहेगा। ऐसे में आजीविका के क्षेत्रों तथा कैरियर को शानदार बनाने के लिए कुछ कठिनाइयों का दौर बना हुआ रहेगा। अतः तकनीक, चिकित्सा, सूचना, संवाद, विपणन, लेखन, प्रकाशन व शासन प्रशासन के क्षेत्रों में चुनौतियों के बढ़ने के आसार रहेंगे। अतः संबंधित पहलुओं का ध्यान रखें। हालांकि कुछ कामों व कारोबार को साधने के लिए लंबी व लाभकारी यात्राओं का रूख करते हुये रहेंगे। किन्तु राशि स्वामी के गोचरीय स्थिति के कारण अचानक ही परिवाहन आदि में तथा अनुबंधों को पाने में वक्त जाया होता रहेगा। किन्तु श्री सूर्य का गोचर कहीं न कहीं आपके कार्य व कारोबार को संवारने में सहायक रहेगा। अतः बौद्धिकता को कायम रखें।

प्रेम एवं संबंधः कन्या राशि वाले जून 2021 में सगे संबंधियों से नजदीकियों को बढ़ाने और उनके किसी मांगलिक आयोजनों में शामिल होने के लिए तैयार रहेंगे। इस माह किसी धार्मिक स्थल व मनोरंजक स्थानों में भ्रमण रहेगा। हालांकि घर में भाई व बहनों को लेकर किसी मामले में गहरे मतभेदों के उभरने के आसार बने हुए रहेंगे। अतः उन्हें भी सुने व समझे तथा झगड़ों में उलझने के बजाय बिन्दुवार उनकी बातों को सुने तथा सही निष्कर्ष व उपयोगी संवाद के जरिये मतभेदों को दूर करें, तो अच्छा रहेगा। क्योंकि श्री राशि स्वामी बुध की गोचरीय स्थिति पाप प्रभाव से युक्त रहेगी। ऐसे में इस माह पे्रम व संबंधों में कहीं न कहीं तनाव आदि उभरने के आसार रहेंगे। वहीं निजी संबंधों में साथी के मध्य बातों ही बातों में तनाव रहेंगे। हालांकि शुक्र का गोचर कहीं न कहीं माह के अंतिम सप्ताहों से पे्रम संबंधों को मधुर करने वाला रहेगा।

वित्तीय स्थितिः 2021 में कन्या राशि के जातक एवं जातिकायें वित्तीय स्रोतों को सुदृढ़ करने तथा उन्हें आधुनिक साज-सज्जा से लैस करने में दिलचस्प बने हुये रहेंगे। वैसे राशि स्वामी की गोचरीय स्थिति इस माह आपको मिश्रित फलों को देने वाली रहेगी। ऐसे में नकदी को जुटाने तथा उत्पादों के विक्रय हेतु प्रदर्शनी की स्थिति रहेगी। यानी कार्य व व्यापार मे लंबी व लाभकारी यात्रा हेतु देश देशान्तर जाना पड़ेगा। यदि आप किसी संस्था से ऋण ले रखा हैं, तो उसे चुकाने का दबाव बढ़ा हुआ रहेगा। वहीं जून 16 से श्री सूर्य का गोचर आय को अच्छा करने में मद्दगार रहेग। इस माह के अंतिम सप्ताहों से श्री शुक्र आपको सीधे तौर पर लाभ हेतु सकारात्मक रहेंगे। यानी ग्रहीय गोचर के अनुसार आय और व्यय दोनों ही रहेगा। अतः उपयोगी तथ्यों का ध्यान देते हुए व्यय को संतुलित करें, तो ज्यादा अच्छा रहेगा।

शिक्षा एवं ज्ञानः जून 2021 में कन्या राशि के जातक एवं जातिकाओं को पढ़ने लिखने व विषयों में पारंगत होने के अवसर रहेंगे। अतः उत्साह पूर्वक और मन से संबंधित विषयों का अध्ययन करें, तो कामयाबी की राह निर्मित होती रहेगी। वैसे चिकित्सा, कला, संवाद, सूचना, प्रबंधन, सुरक्षा तकनीक के व्यवसायिक हुनर को निखारने में भी श्री बुध व शुक्र तथा सूर्य भी बहुत हद तक सहायक रहेंगे। अतः लक्ष्यों को भेदने के लिए और सकारात्मक होने की जरूरत इस माह बनी हुई रहेगी। क्योकि पाप ग्रहीय गोचर मन को भ्रमित व चकित करने वाला रहेगा। ऐसे मे शिक्षण व प्रशिक्षण के कामों में सुस्ती या फिर उनसे विमुख होने की स्थिति भी आ सकती हैं, यदि आप आध्यात्मिक शिक्षा व भजन तथा संगीत आदि में सफल होने की तमन्ना रखते हैं, तो नकारात्मक विचारों से बचते हुए अपने अभ्यास की समीक्षा करें, जिससे शुभ ग्रहीय गोचर का आपको लाभ मिलता हुआ रहेगा।

स्वास्थ्यः जून 2021 के महीने मे कन्या राशि क़े जातक एवं जातिकाओं को स्वास्थ्य के मुद्दे में सतर्कता बरतने की जरूरत रहेगी। क्योंकि इस माह के पहले सप्ताह से ही राशि स्वामी श्री बुध पाप ग्रहीय प्रभाव से युक्त रहेंगे। ऐसे में आपको तन में पीड़ा व रोगों को होने की आशंका रहेगी। हालांकि घबराने की जरूरत नहीं रहेगी। क्योंकि कहीं न कहीं शुभ ग्रह इस गोचरीय क्रम में सेहत को सुरक्षित रखने की ऊर्जा को देता हुआ रहेगा। अतः उपयोगी आहार-विहार को जारी रखें और हल्के तथा रोगप्रतिरोध को बढ़ाने वाले योगासनों का अभ्यास एक तय समय में करें, तो अधिक अच्छा रहेगा। वहीं श्री सूर्य का गोचर हालांकि 16 जून से आपके ऐसे सभी प्रसायों को सफल करता हुआ रहेगा। जिससे आप रोग व पीड़ाओं से निजात पाते हुये रहेंगे। यानी इस माह खुद तथा स्वजनों के स्वास्थ्य का पूरा ख्याल रखें, तो श्री सूर्य अच्छी सेहत को देते रहेंगे।

उपयोगी उपायः श्री गणेश चालीसा का पाठ करें।