हिन्दी

वृश्चिक राशि मासिक राशिफल (Vrischik Rashi Masik Rashifal)

वृश्चिक राशि मासिक राशिफल (Vrischik Rashi Masik Rashifal)

वृश्चिक मासिक राशिफल मई 2021

माह मई 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:

सूर्य इस मास 14 मई से दारा भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत् अष्टम भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 01 मई से दारा भावगत गोचर तथा 26 मई से अष्टम भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् सुख भाव गत गोचर करेंगे। श्री शुक्र 04 मई से दारा भावगत तथा 28 मई से अष्टम भावगत गोचर करेंगे। तथा श्री शनि पूर्ववत पराक्रम भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर दारा भाव में एवं केतु का गोचर लग्न भाव में रहेगा।

कैरियर एवं व्यवसायः मई 2021 में वृश्चिक राशि के जातक एवं जातिकायें संबंधित क्षेत्रों के कैरियर में वांछित प्रगति के अवसरों से युक्त रहेंगे। बहुत सम्भव है, कि आपके किये गये प्रयासों का इस माह कोई बढ़िया लाभ रहेगा। चाहे व राजनैतिक क्षेत्रों की बातें हो या फिर कार्मिक क्षेत्रों को मजबूती देने की बातें हो इस माह बढ़िया अवसर दस्तक देते रहेंगे। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर जहाॅ आपके लिये उच्च तथा रोगभाव गत रहेगा। परिणामों से इस माह कई कामों को साधनें तथा उनमें उम्दा किस्म की सफलता को पाने में सक्षम होते रहेंगे। यदि आप किसी प्रतियोगी या फिर खेलादि के क्षेत्रों में किस्मत आजमा रहे हैं, तो निश्चित तौर पर सफल होने के आसार रहेंगे। हाालंकि राशि स्वामी मंगल की गोचरीय स्थिति आपको भाग-दौड़ को देने वाली रहेगी। चाहे वह कार्मिक लक्ष्य हो या फिर व्यापारिक अधिक प्रयासों की जरूरत रहेगी।

प्रेम एवं संबंधः वृश्चिक राशि मई 2021 में इस राशि के जातक एवं जातिकायें घर व परिवार में उभर रहे मतभेदों को दूर करने के सिलसिले में लगे हुये रहेंगे। बहुत सम्भव है इस माह किसी मांगलिक व वैवाहिक आयोजन को पूरा करने में दिलचस्पी बनी हुई रहेगी। वहीं घर में भाई व बहनों के मध्य कुछ बातों में मतभेदों के गहराने से परेशान रहेंगे। हालांकि ससुराल पक्ष की तरफ से सकारात्मक संकेत बने हुये रहेंगे। जिससे मन में प्रसन्नता रहेगी। हालांकि पत्नी के मध्य कुछ बातों में सहमति रहेगी। तथा प्रतिष्ठा को उच्च करने के सिलसिले में उठाये गये कदमों की सराहना इस माह बनी हुई रहेगी। वहीं पे्रम संबंध सामान्य स्तर के बने हुये रहेंगे। ऐसे में अपने चहेते साथी को उपहार देने तथा उनकी मन की बातों को सुनने तथा समझने में लगातार प्रयत्नशील बने हुये रहेंगे। यानी इस माह पे्रम एवं संबंधों में मिश्रित परिणामों की स्थिति रहेगी।

वित्तीय स्थितिः मई 2021 में वृश्चिक राशि के जातक एवं जातिकाओं को आर्थिक पहलुओं के मजबूती देने के अवसर रहेंगे। किन्तु इस सिलसिले में आपको संबंधित क्षेत्रों में अधिक भाग-दौड़ करने की स्थिति बनी हुई रहेगी। क्योंकि राशि स्वामी श्री मंगल का गोचर संबंधित पूंजी निवेश व विदेश के कामों में आपको अधिक परिश्रम कराने वाला रहेगा। अतः वहीं श्री सूर्य की गोचरीय स्थिति आपके कामों को लाभप्रद बनाने वाली व मान-सम्मान को दिलाने वाली रहेगी। ऐसे में तय समय से कामों को पूरा करने में अच्छी प्रगति की स्थिति बनी हुई रहेगी। यानी धनी बनने व अधिक से अधिक लाभ कमाने की मंशा इस माह बहुत हद तक सफल होने की ओर रहेगी। किन्तु इस दिशा में आपको अपने सधे हुये प्रयासों को जारी रखने में फायदा रहेगा। यानी इस माह धन संबंधों में अधिकांश प्रयासों के सफल होने के आसार रहेंगे। किन्तु छोटी-छोटी परेशानियां भी रहेगी।

शिक्षा एवं ज्ञानः मई 2021 में वृश्चिक राशि वालों को स्कूली शिक्षा व उच्च स्तरीय शिक्षा के मानदण्डों को पूरा करने तथा वांछित संस्थाओं में अध्ययन हेतु नामांकन पाने के लिये भाग-दौड़ की स्थिति बनी हुई रहेगी। यदि आप प्रतियोगी क्षेत्रों की तैयारी में हैं, तो प्रयासों को कमजोर न करें, निश्चित तौर पर सफल होने के आसार बने हुये रहेंगे। क्योंकि श्री सूर्य का गोचर इस माह आपके लिये वांछित कामों को पूरा करने में सहायक रहेगा। वहीं शुक्र का स्वराशि गत गोचर भी कहीं न कहीं पढ़ने लिखने व कला तथा विज्ञान के क्षेत्रों में महती तरक्की को देने वाला रहेगा। किन्तु अपने प्रयासों को पूरे मन से जारी रखें, तो सफलता आपकी झोली में रहेगी। अन्यथा विरोधी पक्ष आपके मनसूबों में पानी फेर सकता है। ऐसे में सूझबूझ के क्रम को कमजोर न करें। कुल मिलाकर यह माह शैक्षिक व मामलों में अच्छी सफलता को देने वाला रहेगा।

स्वास्थ्यः मई 2021 के महीने मे वृश्चिक राशि के जातक एवं जातिकाओं को नियमित दिनचर्या की तरफ निरन्तर आगे बढ़ने की जरूरत रहेगी। अन्यथा रोग व पीड़ाओं के कारण कुछ परेशानी की स्थिति उभर सकती है। क्योंकि राशि स्वामी श्री मंगल का गोचर अष्टम भावगत होने से सेहत में रोग व पीड़ाओं के उभरने के आसार रहेंगे। बहुत सम्भव हैं, कि इस माह कोई रोग व चोटादि से आपकी परेशानी बढ़ी हुई रहेगी। अतः अपने खान-पान का पूरा ध्यान दें, तो अच्छा रहेगा। अन्यथा शरीर में रोग व पीड़ाओं के कारण परेशान रहेंगे। कहने का अर्थ है। कि इस माह सेहत के संदर्भों में मिश्रित परिणामों की स्थिति रहेगी। अतः संतुलित खान-पान के साथ जरूरी व उपयोगी व्यायामों के क्रम को कमजोर न करें, अन्यथा हानि की स्थिति रहेगी। क्योंकि शुभाशुभ गोचरीय स्थिति बनी हुई रहेगी।

उपयोगी उपायः सूर्य चालीसा का पाठ करें।