कन्या राशि की सम्पूर्ण जानकारियाँ

कन्या राशि की सम्पूर्ण जानकारियाँ

कन्या राशि के सामान्य लक्षण एवं गुण  (Kanya Rashi General Characteristic)

भौतिक लक्षण : मध्यम कद काले बाल और आंख, त्वरित चुस्त चाल, वास्तिवक आयु से कम के प्रतीत हाते हैं, विकसित छाती, सीधी नाक, पतली और तीखी आवाज, धनुषाकार घनी भौंहें, गर्दन या जांघों पर निशान।

अन्य गुण : बहुत बुद्धिमान, विश्लेषक, विलक्षण बुद्धि वाला, अन्य की भावनाओं और त्रुटियों का निंदक । भाषाओं के ज्ञानी होते हैं और किसी प्रक्रिया को समझने में वैज्ञानिक दृष्टिकोण का उपयोग करते हैं। भावनाओं में बह जाते हैं।

सोच समझ कर निर्णय लेते हैं। आत्मविश्वास की कमी, घराये से रहते हैं। सुव्यवस्थित, अपने विचार की बारीकियों को समझने में सक्षम होते हैं। स्वयं के स्वार्थ के प्रति जागरूक, मितव्ययी, कूटनीतिज्ञ, चतुर होते हैं। गृहसज्जा में निपुण, गणितज्ञ, पराविद्या में रूचि होती है।

उदर रोगों के सावधान रहना चाहिए। पेचिश, टायफायड पथरी आदि संभाव्य रोग हें विवाह में बिलंब वैवाहिक जीव सुखी, संतान कम होती है। आय उत्तम, कार्य-व्यवसाय में सफलता, संपत्ति के मालिक होते है। नाममात्र की व्याधि होने पर भी डाॅक्टर के पास चले जाते हैं। पृथ्वी तत्व की राशि होने के कारण बागवानी ओर खेती में रूचि लेते हैं। धन संचय में रूचि होती है। 20 से 25 वर्ष की आयु में सफल और साहसी होते हैं। 25 से 35 वर्ष की आयु में स्वयं का मकान होता हे। 36 से 48 वर्ष कष्टप्रद होते हैं। 49 से 62 वर्ष सौभाग्यशाली होते हैं, अचानक लाभ होता है। 23 और 24वें वर्ष बहुत उत्तम रहते हैं जबकि 4, 16, 22, 36 और 55 वर्ष कष्टप्रद होते हैं। जीवन के अंतिम समय में टी. बी. हो सकती है। स्त्री राशि, मनोरंजन के स्थान, चारागाह, शुभ राशि मध्यम कद, शीर्षोदय राशि पौधों वाली भूमि, कन्धों तथा भुजाओं का झुकना, सच्चा दयालुता, काले बाल अच्दी मानसिक योगयता, विधि के अनुसार कार्य करने वाली तर्कशील होती है।

अपनी व्यक्तिगत समस्या के निश्चित समाधान हेतु समय निर्धारित कर ज्योतिषी पंडित उमेश चंद्र पन्त से संपर्क करे | हम आपको निश्चित समाधान का आश्वासन देते है |