तुला राशि मासिक राशिफ़ल । Libra Monthly Horoscope in Hindi
Pavitra Jyotish Kendra
Ganesha Pavitra Jyotish

तुला राशि मासिक राशिफल

तुला राशि मासिक राशिफल

तुला मासिक राशिफल अगस्त 2018

माह अगस्त 2018 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:

कैरियर और व्यापार– तुला राशि के जातको को अगस्त माह में कैरियर व व्यापार के संदर्भों में महत्वपूर्ण तरक्की प्राप्त होने के योग रहेगे। किए गए प्रयासों का इच्छित लाभ रहेगा। यद्यपि इस माह के प्रथम और द्वितीय भाग में अनुकूल परिणामों हेतु कशमकश करनी पड़ सकती है। किन्तु इस माह के द्वितीय और अंतिम भाग में इच्छित परिणाम आपके हाथ लगेगे कार्य व व्यापार के संबंधित क्षेत्रों में पद प्रतिष्ठा का लाभ रहेगा।

प्रेम एवं सम्बंधः संबंधों के लिहाज से तुला राशि के जातक एवं जातिकाओं को अगस्त  माह के प्रथम भाग से ही माता-पिता से स्नेह व अल्पधन का लाभ रहेगा। प्रेम संबंधों में इस माह  के प्रथम और तृतीय व अंतिम प्रथम भाग में खुशहाली रहेगी साथी के मध्य मे मधुरता और निकटता की स्थिति बनी रहेगी। आप साथी के अनुकूल वस्त्राभूषणों की खरीद की ओर उत्साहित रहेगे। किन्तु द्वितीय और मध्य भाग में छोटी-छोटी परेशानियां हो सकती है।

वित्तीय स्थितिः तुला राशि के जातक एवं जातिकाओ को अगस्त  माह के प्रथम भाग में वित्तीय संदर्भो में इच्छित तरक्की के योग रहेंगे। पारिवारिक और व्यावसायिक जीवन में चल रहा धनाभाव समाप्ति के संकेत देने वाला रहेगा। यद्यपि इस मास के प्रारिम्भक भाग में अधिक कशमकश करनी पड़ सकती हैं, किन्तु लाभेश के साथ शुभ गोचर इस माह के मध्य और अंतिम भाग में होने से शुभ परिणाम प्राप्त रहेंगे।

शिक्षा एवं ज्ञानः– अगस्त  माह तुला राशि के जातक एवं जातिकाओं को उच्च शिक्षा, सौंदर्य, तकनीक, चिकित्सा, अध्यापन के संबंधित क्षेत्रों में इस माह कोई उच्च मुकाम हासिल होने के योग रहेंगे। प्रतियोगी व बौद्धिक क्षमताओं को निखारने में महती प्रगति रहेगी। इस माह के प्रथम भाग में शैक्षिक संदर्भों में प्रगति के योग रहेगे। इस माह का तृतीय और अंतिम भाग भी आपके ज्ञान को निखारने वाला रहेगा।

स्वास्थ्यः तुला राशि के जातको को अगस्त  माह में स्वास्थ संदर्भों में यद्यपि शुभाशुभ परिणाम प्राप्त होने के आसार रहेंगे। आपकी शारीरिक क्षमताओं में वृद्धि के योग रहेंगे। चल रही कमजोरी को दूर करने में इच्छित परिणामों की आवृत्ति रहेगी। इस माह के मध्य में मिश्रित परिणाम तथा अंतिम व तृतीय भाग में अनुकूल और शुभ परिणाम प्राप्त रहेगे। चल रही शारीरिक पीड़ाओं को समाप्त करने में प्रगति रहेगी।

उपयोगी उपायः इस राशि के जातकों को संबंधित अनिष्ट फल हटाने हेतु हनुमान प्रभु व परमेश्वर शिव की पूजा अर्चना शास्त्रीय विधि के अनुसार करने से लाभ रहेगा। गौ सेवा भी अपेक्षित है। गुरू व ब्राह्मणों को भौतिक उपयोग की वस्तुओं का दान दें। शिव व हनुमान मंदिर में सामूहिक उपयोग हेतु सुन्दर कालीन व चादरों का दान देने से शुभफल में वृद्धि के योग रहेगे।