हिन्दी

तुला राशि मासिक राशिफल (Tula Rashi Masik Rashifal)

तुला राशि मासिक राशिफल (Tula Rashi Masik Rashifal)

तुला मासिक राशिफल मई 2021

माह मई 2021 की गृह स्थितियों अनुसार मासिक फल निम्न प्रकार है:

सूर्य इस मास 14 मई से अष्टम भावगत गोचर करेंगे। श्री मंगल पूर्ववत् से भाग्य भावगत गोचर करेंगे। श्री बुध 01 मई से अष्टम भावगत तथा 26 मई से भाग्य भावगत गोचर करेंगे। श्री वृहस्पति पूर्ववत् सुत भाव गत गोचर करेंगे। श्री शुक्र 04 मई से अष्टम भावगत तथा 28 मई से भाग्यभाव गत गोचर करेंगे। शनि पूर्ववत सुख भाव में गोचर करेंगे। राहू का गोचर अष्टम भाव में एवं केतु का गोचर धन भाव में रहेगा।

कैरियर एवं व्यवसायः मई 2021 तुला राशि के जातक एवं जातिकाओं को प्रबंधन, चिकित्सा, प्रशासन के क्षेत्रों में वांछित स्थान पाने के लिये और सकर्त होकर चलने की जरूरत रहेगी। वहीं सामान्य काम-काजी जीवन में बढ़ती हुई जिम्मेदारियों को निभाने की चुनौती रहेगी। यदि आप विदेश व देश में दूरस्थ स्थानों की यात्रा में है।, तो कुछ न कुछ कठिन चुनौतियों के उभरने के आसार रहेंगे। अतः उभरती हुई कठिनाइयों से घबड़ाने की जरूरत नहीं रहेगी। क्योंकि इस माह का ग्रहीय गोचर कुछ न कुछ परेशानियों को खड़ा करने वाला रहेगा। हालांकि श्री सूर्य का उच्चगत गोचर आपके कार्य व कैरियर को संवारने वाला रहेगा। वहीं राशि स्वामी श्री शुक्र की गोचर आजीविका के क्षेत्रों में परेशानियों को देने वाली रहेगी। कहने का अभिप्राय है। कि इस माह निश्चित तौर पर संबंधित कार्य व व्यापार में फायदा रहेगा। किन्तु राशि स्वामी शुक्र्र का गोचर परेशान कर सकता है।

प्रेम एवं संबंधः मई 2021 में तुला राशि के जातक एवं जातिकाओं को संबंधित घर व परिवार के और निकट होने की जरूरत बनी हुई रहेगी। इस माह संबंधित पारिवारिक व व्यापारिक संबंधों को अच्छे बनाने में और वक्त देने की जरूरत रहेगी। वहीं भाई व बहनों के मध्य चल रहे मतभेदों को सुलझाने की दिशा में अधिक कारगर प्रयासों की जरूरत बनी हुई रहेगी। बहुत सम्भव हैं, कि इस माह परिजनों को सहयोग देने और कामों को पूरा करने में अधिक भाग-दौड़ की स्थिति बनी रहेगी। ऐसे मे पारिवारिक मामलों को साधने तथा यदि कोई विवाद हैं, तो उन्हें दूर करने में अच्छी प्रगति की स्थिति रहेगी। क्योंकि कुटुम्ब भावगत अष्टम होकर राशि स्वामी का दृष्टि संबंध बना हुआ रहेगा। पे्रम संबंध सामान्य स्तर के बने हुये रहेंगे। किन्तु छोटी-छोटी बातों में मतभेदों से इंकार भी नहीं किया जा सकता है। अतः कटु शब्दों के प्रयोग से बचें।

वित्तीय स्थितिः मई 2021 में तुला राशि के जातक एवं जातिकायें इस माह संबंधित कार्य व कारोबार को उच्च स्तर का बनाने में संलग्न रहेंगे। जिससे बेहतर किस्म का लाभ मिलता हुआ रहेगा। वैसे इस माह लाभ भाव के स्वामी श्री सूर्य का उच्च होना आपके लिये बेहतरीन आर्थिक परिणामों को देने वाला रहेगा। अतः प्रयासों को पूरी मुस्तैदी से जारी रखने में कोताही न करें, तो अच्छा रहेगा। किन्तु इन प्रयासों को साधने के लिये इस माह अधिक भाग-दौड़ की स्थिति बनी हुई रहेगी। क्योंकि मई के तीसरे सप्ताह से श्री राशि स्वामी शुक्र का तथा लाभ भाव के स्वामी श्री सूर्य का गोचर अष्टम भावगत होने से आर्थिक व्यय का स्तर बढ़ा हुआ रहेगा। बहुत सम्भव हैं, कि यह व्यय संसाधनों को जुटाने व संबंधित लोगों से सम्पर्क बनाने तथा संबंधित क्षेत्रों की सेवा शुल्क को भुगतान करने में व्यय होता रहेगा।

शिक्षा एवं ज्ञानः मई 2021 में तुला राशि के जातक एवं जातिकायें संबंधित तकनीक, चिकित्सा, प्रबंधन, प्रशासन तथा उत्पादन के क्षेत्रों का ज्ञान अर्जित करने और कला कौशल को बढ़ाने की दिशा में निरन्तर अग्रसर बने हुये रहेंगे। चाहे वह प्रतियोगी क्षेत्रों में बढ़त की बातें हो या फिर दूसरे क्षेत्रों में काम-काज को बेहतरीन बनाने की बातें हो, लाभ मिलता हुआ रहेगा। बहुत सम्भव हैं, किसी सुस्त पड़े औद्योगिक संस्थान में जान फूंकने की प्रक्रिया को इस माह तेजी देने के सिलसिले में संबंधित अधिकारियों के मध्य ताबातोड़ बैठक आयोजित करने के प्रयास रहेंगे। यदि आप किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, तो निश्चित तौर पर सफल होने के योग बने हुये रहेंगे। किन्तु संबंधित विषयों की तैयारी हेतु पूरे मन से लगने की जरूरत रहेगी। क्योंकि राशि स्वामी शुक्र की गोचरीय स्थिति ऐसे संकेत दे रही है।

स्वास्थ्यः मई 2021 के महीने मे तुला राशि के जातक एवं जातिकाओं को चेहरे की रौनकता को बढ़ाने के लिये और मुस्तैद होने की जरूरत बनी हुई रहेगी। क्योंकि इस माह राशि स्वामी की गोचरीय स्थिति कहीं न कहीं सेहत में रोग व पीड़ाओं को देने वाली रहेगी। अतः अपने सूझबूझ के क्रम को कमजोर न करें, तो इस माह के ग्रहीय गोचर द्वारा उत्पन्न पीड़ाओं को दूर करने में सक्षम होते रहेंगे। क्योंकि राशि स्वामी शुक्र का गोचर अष्टम भाव गत होने से तथा श्री सूर्य का गोचर उच्च राशि गत दारा भावगत होने से शरीर में कष्ट व रोगों के उत्पन्न होने के आसार बने हुये रहेंगे। अतः प्रयासों को पूरे मन से करें, तो निश्चित तौर पर लाभान्वित होते रहेंगे। यानी इस माह सेहत में मिश्रित परिणामों की स्थिति बनी हुई रहेगी। अतः तामसिक आहारों के सेवन से बचें।

उपयोगी उपायः श्री राम रक्षा कवच का पाठ करें।