हिन्दी

2021 वृषभ राशि (Vrishabh Rashi) की ग्रह स्थितियां

2021 वृषभ राशि (Vrishabh Rashi) की ग्रह स्थितियां

2021 मे वृषभ राशि के लिए ग्रहों का गोचर

2021 में वृषभ राशि के लिए ग्रह स्थितियां इस प्रकार रहेंगी

सूर्यः  इस वर्ष 2021 में सूर्य 14 जनवरी में भाग्य भाव गत गोचर करेंगे, 12 फरवरी से कर्म भाव गत, 14 मार्च से आय भावगत, 13 अपै्रल को व्यय भावगत, 14 मई से लग्न भाव गत, 15 जून से धन भावगत, 16 जुलाई से पराक्रम भावगत, 16 अगस्त को सुख भावगत, 16 सितम्बर को सुतभाव गत, 17 अक्टूबर को रोग भावगत, 16 नवम्बर को दारा भावगत, 15 दिसम्बर को अष्टम भावगत गोचर करेगा।

चंद्रः अपने गोचरीय तीव्रता के कारण सवा दो नक्षत्रों अर्थात् एक राशि में लगभग ढ़ाई दिनों पर्यन्त विचरण करते रहते हैं। हमें इसी भाॅति राशि चक्र में वर्ष पर्यन्त मेष से मीन पर्यन्त चन्द्र के गोचर क्रम को समझना चाहिये।

मंगलः मंगल इस वर्ष 2021 में, 22 फरवरी को लग्नभाव में, 13 अपै्रल को धन भाव में संचरण करेगा। 02 जून को पराक्रम भाव में संचरण करेगा। 20 जुलाई को सुख भाव में संचरण करेगा। 06 सितम्बर को पंचम भाव में संचरण करेगा। तथा 22 अक्टूबर को रोगभाव में एवं 05 दिसम्बर से दारा भाव में संचरण करेगा।

अपनी व्यक्तिगत समस्या के निश्चित समाधान हेतु समय निर्धारित कर ज्योतिषी पंडित उमेश चंद्र पन्त से संपर्क करे | हम आपको निश्चित समाधान का आश्वासन देते है |

बुधः बुध ग्रह इस वर्ष 05 जनवरी 2021 में धर्म भाव में 25 जनवरी से कर्म भाव में, 30 जनवरी को वक्री एवं 04 फरवरी को वक्री धर्म भाव में 21 फरवरी को मार्गी 11मार्च को कर्म भाव में तथा 01 अपै्रल को लाभ भाव में 16 अपै्रल को व्यय भाव में 01 मई को लग्नगत संचरण करेंगे। 26 मई को धन भाव में, 30 मई को वक्री 03 जून को वक्री लग्नभाव में, 23 जून को मार्गी 07 जुलाई को सम्पत्ति भाव में तथा 25 जुलाई को पराक्रमभाव में, 8 अगस्त को सुखभाव में, 26 अगस्त को सुतभाव में, 22 सितम्बर को रोगभाव में, 27 सितम्बर को वक्री 02 अक्टूबर को वक्री सुतभाव में, 18 अक्टूबर को मार्गी, 02 नवम्बर को रोगभाव में संचरण करेंगे। 21 नवम्बर को दाराभाव में, 10 दिसम्बर को अष्टम भाव में, 29 दिसम्बर को भाग्यभाव में गोचर करेंगे।

गुरूः गुरू वर्ष 2021 में 06 अपै्रल से कर्म भाव में तथा 20 जून को वक्री कर्म भाव में तथा 14 सितम्बर को वक्री गति से धर्म भाव में, 18 अक्टूबर को मार्गी तथा 20 नवम्बर को कर्म भाव में संचरण करेगा।

शुक्रः शुक्र 2021 में 04 जनवरी को अष्टम भाव में, 28 जनवरी को भाग्य में, 21 फरवरी को कर्म भाव  में, 17 मार्च को आय भाव में, 10 अपै्रल को व्यय भावगत संचरण करेंगे। 04 मई को लग्न भाव में, 28 मई को सम्पत्ति भाव में, 22 जून को पराक्रम भाव में, 17 जुलाई को सुखभाव में, 11 अगस्त को सुतभाव में, 05 सितम्बर को रोग भाव में संचरण करेंगे। 02 अक्टूबर से दारा भाव में, 30 अक्टूबर से अष्टम भाव में, 08 दिसम्बर से भाग्य भाव में, 19 दिसम्बर से वक्री, 30 दिसम्बर से वक्री गति से अष्टमभाव में गोचर करेंगे।

शनिः शनि वर्ष 2021 में भाग्यभाव गत गोचर करेंगे।

राहुः राहु ग्रह वर्ष 2021 में लग्न भावगत संचरण करेंगे।

केतू: केतु ग्रह वर्ष 2021 दारा भाव गत संचरण करेंगे।Get your Personalised Planetary Transit Reports By PavitraJyotish

वृषभ राशि के जातक नीचे जाकर वृषभ राशि (चन्द्र राशि) से सम्बंधित वर्ष 2021 की समस्त जानकारियाँ/भविष्यवाणी विस्तृत रूप मे पढ़ सकते है:

2021 वृषभ राशि की ग्रह स्थितियां

इस वर्ष 2021 में सूर्य 14 जनवरी …

2021 वृषभ राशि कैरियर एवं व्यापार राशिफल

2021 के महीनों में अष्टम …

2021 वृषभ राशि वित्तीय राशिफल

2021 के इन महीनों में लाभेश …

2021 वृषभ राशि प्रेम एवं संबंध

नववर्ष सन् 2021 में आप …

2021 वृषभ राशि स्वास्थ्य राशिफल

2021 के इन महीनों में आपको …

2021 वृषभ राशि शिक्षा राशिफल

2021 के इन महीनों में आपको …

2021 वृषभ राशि उपयोगी उपाय

वर्ष 2021 में वृष राशि के …